Google+ Badge

Friday, 6 November 2015

मालिक, मुझे तुझपे भरोसा है.

 मालिक, मुझे तुझपे भरोसा है.
मेरी हैसीयत से ज्यादा मेरी थाली मे तूने परोसा है.
तू लाख मुश्किलें भी दे दे मालिक, मुझे तुझपे भरोसा है.
एक बात तो पक्की है कि...
"छीन कर खानेवालों का कभी पेट नहीं भरता
और बाँट कर खानेवाला कभी भूखा नहीं मरता...!!!"