Google+ Badge

Sunday, 13 December 2015

चढते सूरज के पुजारी तो लाखों हैं '
डूबते वक़्त हमने सूरज को भी तन्हा देखा